जमानत के बाद मजीठिया की पहली प्रेसवार्ता: सिद्धू पर जमकर बरसे, कहा- समर्थक कहेंगे तो उनके खिलाफ लड़ूंगा चुनाव

ड्रग मामले में पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने के बाद पहली बार रूबरू हुए शिअद नेता बिक्रम मजीठिया ने कहा कि सरकार ने मेरा लुकआउट नोटिस निकलवा दिया फिर भी मैं भागा नहीं। आठों पहर सच्चे बादशाह को याद किया। अब खुलकर लड़ेंगे। नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर उन्होंने कहा कि अगर समर्थक कहेंगे तो सिद्धू के खिलाफ भी चुनाव लड़ेंगे। शिअद मुख्यालय में मंगलवार को पत्रकारों से वार्ता करते हुए बिक्रम मजीठिया ने कहा कि उनके खिलाफ मुख्यमंत्री आवास में साजिश रची गई। इस साजिश में मुख्यमंत्री चरणजीत चन्नी, कांग्रेस प्रधान नवजोत सिंह सिद्धू, गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा और डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय शामिल थे। उन्हे जेल भेजने के लिए सरकार ने चार डीजीपी बदल डाले। ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन के तीन मुखिया को हटा दिया गया, कई जिलों के एसएसपी हटा दिए गए। इसके बाद भी मजीठिया ने हर स्थिति का सामना किया। जिन अधिकारियों ने इस साजिश में शामिल होने से इंकार कर दिया, उन्हे गृह मंत्री से लेकर पुलिस के बड़े अधिकारियों ने धमकाया। यहां तक कि मेरा लुकआउट नोटिस तक जारी करवा दिया गया लेकिन वह पंजाब में ही रहे। मजीठिया ने कहा कि अग्रिम जमानत सबका अधिकार है। इसलिए वह भी इसके लिए न्यायालय की शरण में गए और उन्हें राहत मिली।
सिद्ध को लगा झटका, करेंगे इसका इलाज
सिद्धू को लेकर मजीठिया हर सवाल पर हमलावर दिखे। मजीठिया ने कहा कि मेरी जमानत से सिद्धू को जरूर झटका लगा है। कोई नहीं इसका इलाज करेंगे। सिद्धू मॉडल पर बोले कि सिद्धू का पंजाब मॉडल नहीं बकरी मॉडल है। सिद्धू के मजीठिया के फरार होने के बयान पर अकाली नेता ने कहा कि जब केस दर्ज हुआ तो सिद्धू भी भागा था।
 
 
 
 

सम्बंधित खबर