जम्मू-कश्मीर के पूर्व रणजी क्रिकेटर प्रणव महाजन की दौड़ने के बाद दिल का दौरा पड़ने से निधन

स्टेट समाचार ब्यूरो,आरएसपुरा (नरेश कुमार): जम्मू कश्मीर के पूर्व रणजी क्रिकेटर प्रणव महाजन निवासी आरएसपुरा वार्ड नंबर 2 का रविवार सुबह चंडीगढ़ में चौथी सुपर सिख रन श्री आनंदपुर साहब बैसाखी मैराथन में दौड़ पूरा करने के बाद दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। प्राप्त जानकारी के अनुसार प्रणव महाजन चंडीगढ़ में बैसाखी मैराथन में दौड़ने के एक घंटे बाद दिल का दौरा पड़ा और उनकी मृत्यु हो गई। प्रणब महाजन 2000 के दशक में अपने खेल के दिनों में 'आरएसपुरा के शान' के रूप में जाने जाते थे। वह 40 साल के थे और उन्होंने पांच साल तक घरेलू क्रिकेट में जम्मू-कश्मीर का प्रतिनिधित्व किया। प्रणब महाजन ने वर्ष 2004 और 2009 के बीच पांच साल तक घरेलू क्रिकेट में जम्मू-कश्मीर का प्रतिनिधित्व किया। बाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज और बाएं हाथ के बल्लेबाज थे। महाजन ने 10 रणजी ट्रॉफी मैचों में 24 विकेट लिए। उन्होंने अपने राज्य के लिए 6 लिस्ट-ए मैचों में 7 विकेट भी लिए थे। बाद में उन्होंने स्थानीय टी 20 टूर्नामेंट में भाग लिया और आईपीएल सितारों अब्दुल समद के साथ भी मैच खेले थे। पिछले 2,3 सालों से प्रणव महाजन ने मैराथन दौड़ने और साइकिल चलाने में सफलतापूर्वक संक्रमण किया था। उन्होंने राज्य जम्मू-कश्मीर सहित पंजाब,हिमाचल प्रदेश,दिल्ली सहित देश के अन्य राज्य में मैराथन दौड़ने और साइकिल चलाने की प्रतियोगिता में प्रथम स्थान हासिल कर राज्य जम्मू तथा अपने सीमावर्ती क्षेत्र आर एस पुरा का नाम रोशन किया है। जानकारी के अनुसार मैराथन के आयोजक सुपर सिख रन ने कहा “एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना में जम्मू के सीमावर्ती क्षेत्र आर एस पुरा के प्रणव महाजन को बैसाखी मैराथन में दौड़ने के एक घंटे बाद दिल का दौरा पड़ा और उनका निधन हो गया। हम स्तब्ध और दुखी हैं। इस कठिन समय में हमारी प्रार्थना उनके परिवार के साथ हैं। पुरस्कार वितरण और उसके बाद के सभी कार्य रद्द कर दिया गया है। उनके बड़े भाई पुनीत महाजन ने बताया कि प्रणव महाजन को दिल का दौरा पड़ने से पहले रविवार सुबह चौथे सुपर सिख रन श्री आनंदपुर साहिब वैसाखी मैराथन में 35-45 आयु वर्ग के पुरुषों की श्रेणी में 182 में से 34 वें स्थान हासिल किया था। उन्होंने 1 घंटे 52 मिनट में 21.1 किलोमीटर की दौड़ लगाई थी। उनके पड़ोसी अनिल कपूर ने बताया कि वे अन्य दो दोस्तों तथा आठ साल के बेटे केतब महाजन के साथ आनदपुर साहिब मे बैशाखी मैराथन में भाग लेने के लिए गए थे। रविवार को सुबह जब उपजिला आरएसपुरा के लोगों को प्रणव महाजन को मैराथन के बाद दिल का दौरा पड़ने से निधन हो जाने का पता चला,तो हर कोई दुखी दिखा। पत्नी दीवा महाजन पर जैसे दुखों का पहाड़ टूट कर गिर हो। इस समय प्रणव बीएसएनएल विभाग में कार्यरत था। प्रणव के साथ पड़ोसी अनिल कपूर ने कहा कि वह एक होन‌हार युवक था और हमेशा सभी को नशे से दूर रहने तथा दौड़ लगाने तथा पिछले एक वर्ष से कस्बे के छोटे बच्चों को साइकिल करने के लिए प्ररेरित करने पर एक टीम का गठन कर रखा था। प्रणव के साथ किकेट खेल चुके शाशि शर्मा,दलजीत सिंह ने कहा कि बचपन से ही कड़ी मेहनत करता था। जिसके चलते वह राज्य की किक्रेट टीम का प्रतिनिध भी कर सका। उन्होने कहा कि उनकी अकास्मिक चले जानेपर इसकी क्षति पुरी नही की जा सकती। उनके बड़े भाई पुनीत महाजन ने बताया कि सोमवार सुबह 10 बजे आर एस पुरा स्थित श्मशान घाट में उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

सम्बंधित खबर