ठाकुरजी के दर्शन करने में किसी प्रकार की असुविधा न हो उसके लिए चिंतित हैं सीएम योगी : मुख्य सचिव

मथुरा, 10 जुलाई (हि.स.)। श्रीकृष्ण की नगरी में बुधवार दोपहर प्रदेश के मुख्य सचिव मनोज कुमार सिंह और पुलिस महानिदेशक प्रशांत कुमार ने बांके बिहारी मंदिर में ठाकुरजी की पूजा की। यहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इसके बाद वह कोसीकलां में बने ऑक्सीजन प्लांट कार्यक्रम में शामिल होने के लिए रवाना हो गए। इस दौरान वृंदावन पूरा पुलिस छावनी में तब्दील दिखाई दिया।

मुख्य सचिव ने कहा कि वृंदावन में बिहारी जी के दर्शन करने के लिए आने वाले लाखों लोगों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो, उसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चिंतित हैं। वृंदावन आने वाली लाखों की भीड़ को किस तरह दर्शन कराए जा सकें, इसको लेकर आज (बुधवार) को मंथन हुआ।

इस दौरान मुख्य सचिव ने कहा कि बांके बिहारी के दर्शन के लिए महत्वपूर्ण दिनों में सात से 10 लाख श्रद्धालू एक दिन में दर्शन करने आते हैं। आसपास संकरी गलियां हैं। मंदिर में प्रवेश को तीन और निकासी को दो दरवाजे हैं। मुख्यमंत्री को चिंता है कि कैसे भीड़ को नियंत्रित करके सुगम तरीके से श्रद्धालुओं को दर्शन कराए जा सके। इसीलिए मैं और डीजीपी यहां पर आए हुंए हैं। यहां जो दर्शन करने आ रहे हैं, उनको केंद्रित करते हुए व्यवस्था चाक चौबंद हो, इसको लेकर रूपरेखा तैयार की गई है। मंडलीय और जनपद के अधिकारियों के साथ पार्किंग आदि व्यवस्थाओं को मौका मुआयना भी किया है।

ट्रैफिक प्लान फेल के बारे में उन्होंने कहा कि इस पर चर्चा करेंगे लेकिन मकसद यही है कि पार्किंग के लिए नियत स्थान हो। जो स्थानीय लोगों को कम से कम परेशानी हो। मुड़िया पूर्णिमा मेला के बारे में बताया कि समुचित व्यवस्था होगी, वह काफी लंबा भी चलता है। उसकी सारी व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि उत्तर प्रदेश के जिन धार्मिक स्थल पर श्रद्धालु आते हैं, उसकी एक सुरक्षा स्कीम है। उस स्कीम के तहत ही व्यवस्था की जाती है। बांके बिहारी मंदिर के बारे में अभी जो स्कीम है, उसको और कैसे बेहतर किया जा सके, इस पर मंथन किया गया है। भीड़ होने पर श्रद्धालुओं को और स्थानीय को कोई असुविधा न हो, इसके लिए सुविधा का स्तर बेहतर किया जाए। बिना कष्ट के दर्शन करा पाएं, यह देखने के लिए सभी अधिकारियों के साथ स्थलीय निरीक्षण किया है। वर्तमान में पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था जोन स्तर पर कराई जा चुकी है। नए उपकरण के साथ अधिक से अधिक तकनीक का प्रयोग हो रहा है। मुड़िया पूर्णिमा मेला के लिए पर्याप्त सुरक्षा बल समय से उपलब्ध कराया जाएगा। बैठक में जिले के तमाम वरिष्ठ ​अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/महेश

हिन्दुस्थान समाचार / महेश कुमार / Deepak Varun / दिलीप शुक्ला

   

सम्बंधित खबर