जींद: रबी की फसलों में हुए ओलावृष्टि से नुकसान की मांग के लिए सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

जींद, 10 जुलाई (हि.स.)। अखिल भारतीय किसान सभा उचाना की अगुवाई में उचाना उपमंडल कार्यालय रबी की फसलों में ओलावृष्टि से हुए नुकसान के मुआवजा की मांग को लेकर धरना दिया गया। किसानों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रोष प्रकट किया। सीएम नायब सिंह सैनी के नाम एसडीएम गुलजार मलिक को किसानों की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा गया। धरने की अध्यक्षता तहसील प्रधान किसान सभा जसवंत डोहाना खेड़ा ने की। मंच संचालन राज्य कोषाध्यक्ष डिंपल ने किया।

बुधवार काे दिए गए धरने को संबोधित करते हुए राज्य उपप्रधान फूल सिंह श्योकंद ने कहा कि पिछले दिनों सरकार ने किसानों के साथ धोखाधड़ी की है। सरकार ने रबी में ओलावृष्टि का मुआवजा जारी किया है लेकिन इस मुआवजे में भारी बंदरबांट की गई है। उचाना के बड़े हिस्से में ओलावृष्टि की वजह से भंयकर नुकसान हुआ है लेकिन मुआवजा केवल मुट्ठी भर किसानों को मिला है। मुआवजा बांटने का कोई आधार सरकार का नहीं दिखाई देता है। गैर बीमित किसानों का पूरा हिस्सा इससे बाहर है।

किसानों के पिछले तीन सालों के मुआवजे लंबित पड़े हैं, ट्यूबवेल कनेक्शन लंबित है, ओलावृष्टि से नुकसान का कोई रिकॉर्ड प्रशासन के पास मौजूद नहीं है। जसवंत डोहाना खेड़ा ने कहा कि यदि मुआवजा बांटने में देरी की गई तो 16 जुलाई को जींद उपायुक्त कार्यालय पर प्रदर्शन किया जाएगा। इस अवसर पर बलजीत मांडी, विक्रम मांडी, राजाराम सुरबरा, जोधाराम, ज्ञानी राम, रणधीर, आजाद पालवां, सिक्किम श्योकंद, शीला छातर, रामप्यारी, छोटी मौजूद रही।

समाप्त

हिन्दुस्थान समाचार / विजेंद्र मराठा / Sanjeev Sharma

   

सम्बंधित खबर